दिसम्बर जनवरी के महीने में गोबर की खाद

0
3086

 

This is an evaluation image and is Copyright Chud Tsankov. Do not publish without acquiring a license. Image number: 0521-1004-2901-1611. http://www.acclaimimages.com/_gallery/_pages/0521-1004-2901-1611.html
This is an evaluation image and is Copyright Chud Tsankov. Do not publish without acquiring a license. Image number: 0521-1004-2901-1611. http://www.acclaimimages.com/_gallery/_pages/0521-1004-2901-1611.html

दिसम्बर जनवरी के महीने में गोबर की खाद के साथ-साथ पोटाश व फास्फेट की पूरी मात्रा का प्रयोग करें। नाइट्रोजन की कुल मात्रा का आधा भाग पौधों पर फूल आने के 2-3 सप्ताह पहले ओर वाकि का शेष भाग एक महीने के बाद डालें। नाईट्रोजन की दूसरी मात्रा एक किलोग्राम यूरिया 200 लीटर पानी में घोल कर छिडक़ाव द्वारा भी दी जात सकती है। बोरोन की कमी के  लिए नाशपाती के पौधे संवेदनशील हैं और इसकी कमी से कच्चे फल फट जाते  है। परिपक्वता अवस्था में पहुंचे पहुंचे फल पर स्थान स्थान पर दववा पड़ जाते  है। इसके लिए बोरिक एसिड़ 200 ग्राम प्रति 200 लीटर पानी में घोल कर छिडक़ाव करें। शूक्ष्म पाषरक तत्वों की कमी दूर करने के  मल्टीप्लैक्स 500 मि.ली. प्रति 200 लीटर पानी में घोल कर मई-जून में 20 दिन के अन्तराल पर दोबार छिडक़ाव करें।

LEAVE A REPLY